A A A A A

दिन का पद्य

मत्ती 11:28
“हे थाकल आ बोझ सँ पिचायल लोक सभ, हमरा लग आउ। हम अहाँ सभ केँ विश्राम देब।