A A A A A

दिन का पद्य

1 थिसलुनिकी 4:7
परमेश्‍वर तँ अपना सभ केँ अशुद्ध जीवन बितयबाक लेल नहि बजौलनि, बल्‍कि पवित्र जीवन।