A A A A A

दिन का पद्य

फिलिप्‍पी 4:20
अपना सभक पिता परमेश्‍वरक स्‍तुति युगानुयुग होइत रहनि। आमीन।