A A A A A

दिन का पद्य

2 तिमुथियुस ௧:௧௨
एही कारणेँ हम एतऽ ई कष्‍ट सहि रहल छी, मुदा हम एहि सँ लज्‍जित नहि छी, कारण, हम जनैत छी जे हम किनका पर विश्‍वास कयने छी और हमरा कनेको सन्‍देह नहि अछि जे, जे किछु हम हुनका रखबाक लेल सौंपि देने छियनि, तकरा ओ अपन अयबाक दिन तक सुरक्षित राखऽ मे सामर्थ्‍यवान छथि।