A A A A A

दिन का पद्य

2 कोरिन्‍थी 4:7
मुदा ई अमूल्‍य धन माटिक बर्तन सभ मे, अर्थात् हमरा सभ मे, राखल अछि जाहि सँ स्‍पष्‍ट होअय जे ई सर्वश्रेष्‍ठ सामर्थ्‍य हमरा सभक अपन नहि, बल्‍कि परमेश्‍वरक छनि।