A A A A A

परमेश्वर: [भगवान के नाम]


यूहन्‍ना 1:1
शुरू मे वचन रहथि। वचन परमेश्‍वरक संग छलाह, और अपने परमेश्‍वर छलाह।

यूहन्‍ना 14:6
यीशु बजलाह, “रस्‍ता हमहीं छी, हँ, और सत्‍य और जीवन सेहो छी। हमरा बिनु केओ पिता लग नहि अबैत अछि।

मत्ती 6:9
तेँ एहि तरहेँ प्रार्थना करू— ‘हे हमर सभक पिता, अहाँ जे स्‍वर्ग मे विराजमान छी, अहाँक नाम पवित्र मानल जाय,

मत्ती 28:19
एहि लेल अहाँ सभ आब जा कऽ सभ जातिक लोक केँ हमर शिष्‍य बनाउ और ओकरा सभ केँ पिता, पुत्र आ पवित्र आत्‍माक नाम सँ बपतिस्‍मा दिऔक।

मसीह-दूत 4:12
कोनो दोसर व्‍यक्‍ति द्वारा उद्धार नहि अछि, कारण स्‍वर्गक नीचाँ मनुष्‍य केँ कोनो दोसर नाम नहि देल गेल अछि जाहि द्वारा अपना सभक उद्धार भऽ सकय।”

प्रकाशित-वाक्‍य 1:8
प्रभु-परमेश्‍वर कहैत छथि जे, “शुरुआत और अन्‍त हमहीं छी। हम वैह छी, जे छथि, जे छलाह, जे आबहो वला समय मे रहताह—वैह, जे सर्वशक्‍तिमान छथि।”

रोमी 8:15
अहाँ सभ केँ जे आत्‍मा देल गेल छथि, से अहाँ सभ केँ फेर डेराय वला गुलाम नहि बनबैत छथि, बल्‍कि परमेश्‍वरक पुत्र बनौने छथि। ओहि आत्‍माक द्वारा अपना सभ हुनका पुकारि उठैत छियनि जे, “हे बाबूजी! हे पिता!”

फिलिप्‍पी 2:10-11
[10] जाहि सँ यीशुक नाम सुनैत प्रत्‍येक प्राणी ठेहुनिया देअय, चाहे ओ स्‍वर्ग मे वा पृथ्‍वी पर वा पृथ्‍वीक नीचाँ रहऽ वला होअय,[11] और पिता परमेश्‍वरक गुणगान मे प्रत्‍येक प्राणी अपना मुँह सँ स्‍वीकार करय जे यीशु मसीह प्रभु छथि।

Maithili Bible 2010
©2010 The Bible Society of India and WBT