A A A A A

Dios: [Maldición]


Gálatas 3:13
Mboroócuai ñanemboecose. Erei Cristo ñanderepɨ ma chugüi. Echa jae oñemboecouca ñanderecovia pe. Echa Tumpa iñee pe oyecuatía oi corai: “Teco güɨnoi jocuae oyecutu ɨvɨra re vae”. Jocorai oyecuatía oi.

Lucas 6:28
Iru vae reta oyepopeyu peré yave jare icavi mbae vae jei peve yave, peyerure Tumpa pe jae omovendise reta vaera —jei—.

Gálatas 5:1
Yayeyora ma. Echa Cristo ñandeyora ma. Jae rambue jecuaeño peipota yae peico oyeyora vae reta rami. Agüɨye ye mo peipota peico mbaeti oyeyora vae reta rami.

2 Corintios 5:17
Jae rambue oime yave quia güɨrovia Cristo re vae, Tumpa omee chupe tecove ipɨau vae. Mbaeti ma oipota mbaembae tenonde yave oipota vae. Oipota ma mbaembae tecove ipɨau vae pegua.

1 Juan 4:4
Cheraɨ reta, pe reta co jae Tumpa imbae reta, jare pemoamɨri ma Cristo ndive oyovaicho vae reta. Echa Espíritu Santo oico pepɨa pe jare jae imbaepuere tuicha yae ɨvɨ pegua reta iya imbaepuere güi.

Romanos 8:37-39
[37] Erei yepe tei opaete cuae oyeapo ñandeve, erei jecuae ñamoaguatata opaete yayerovia reve Cristo imbaepuere rupi. Echa jae ñanderaɨu.[38] Che aicuaa catu Tumpa ñanderaɨu co, jare ngaraa quia ipuere ñanemboyao Tumpa güi. Güɨramoi ñamanota, ani güɨramoi jecuae yaicoveta. Erei jeseve Tumpa ñanderaɨuta. Araɨgua reta jare mburuvicha ara pegua reta ngaraa ipuere ñanemboyao Tumpa güi. Opaete añave oyeapo oi vae jare opaete oyeapota vae ngaraa ipuere ñanemboyao Tumpa güi.[39] Oipotagüe ɨvate oi vae, jare oipotagüe ɨvɨgüɨ pe oi vae, jare oipotagüe iru mbae Tumpa oyapogüe vae yepe ngaraa ipuere ñanemboyao Tumpa güi. Jecuaeño Tumpa ñanderaɨu. Echa oicuauca ñandeve iporoaɨu ñandeYa Cristo Jesús rupi.

1 Pedro 5:8-9
[8] Jecuaeño peñeandu. Echa aña guasu perovaicho co, jare oipota oyapo icavi mbae vae peve, metei ñaguapɨta oguataguata oeca mbae oyuca jou vaera vae rami.[9] Erei peñemomɨrata peporogüɨrovia re agüɨye vaera aña guasu pemoamɨri. Peicuaa co quirai opaete iru oporogüɨrovia vae ɨvɨ pe yogüɨreco vae reta oiporara ñogüɨnoi pe reta peiporara rami.

Génesis ९:१८-२७
[१८] नूह के पुत्र उसके साथ जहाज से बाहर आए। उनके नाम शेम, हाम और येपेत था। (हाम तो कनान का पिता था।)[१९] तीनों नूह के पुत्र थे और संसार के सभी लोग इन तीनों से ही पैदा हुए।[२०] नूह किसान बना। उसने अंगूरों का बाग लगाया।[२१] नूह ने दाखमधु बनाया और उसे पिया। वह मतवाला हो गया और अपने तम्बू में लेट गया। नूह कोई कपड़ा नहीं पहना था।[२२] कनान के पिता हाम ने अपने पिता को नंगा देखा। तम्बू के बाहर अपने भाईयों से हाम ने यह बताया।[२३] तब शेम और येपेत ने एक कपड़ा लिया। वे कपड़े को पीठ पर डाल कर तम्बू में ले गए। वे उल्टे मुँह तम्बू में गए। इस तरह उन्होंने अपने पिता को नंगा नहीं देखा।[२४] बाद में नूह सोकर उठा। वह दाखमधु के कारण सो रहा था। तब उसे पता चला कि उसके सब से छोटे पुत्र हाम ने उसके बारे में क्या किया है।[२५] इसलिए नूह ने शाप दिया, “यह शाप कनान के लिए हो कि वह अपने भाईयों को दास हो।”[२६] नूह ने यह भी कहा, “शेम का परमेश्वर यहोवा धन्य हो! कनान शेम का दास हो।[२७] परमेश्वर येपेत को अधिक भूमि दे। परमेश्वर शेम के तम्बूओं में रहे और कनान उनका दास बनें।”

1 Reyes २:३२-४६
[३२] योआब ने दो व्यक्तियों को मार डाला था जो उससे बहुत अधिक अच्छे थे। ये नेर का पुत्र अब्नेर और येतेर का पुत्र अमासा थे। अब्नेर इस्राएल की सेना का सेनापति था और उस समय मेरे पिता दाऊद यह नहीं जानते थे कि योआब ने उन्हें मार डाला था। इसलिये यहोवा योआब को उन व्यक्तियों के लिये दण्ड देगा जिन्हें उसने मार डाला था।[३३] वह उनकी मृत्यु के लिये अपराधी होगा और उसका परिवार भी सदा के लिये दोषी होगा। किन्तु परमेश्वर की ओर से दाऊद को, उसके वंशजों, उसके राज परिवार और सिंहासन को सदा के लिये शान्ति मिलेगी।”[३४] इसलिये यहोयादा के पुत्र बनायाह ने योआब को मार डाला। योआब मरुभूमि में अपने घर के पास दफनाया गया।[३५] सुलैमान ने तब यहोयादा के पुत्र बनायाह को योआब के स्थान पर सेनापति बनाया। सुलैमान ने एब्यातार के स्थान पर सादोक को महायाजक बनाया।[३६] इसके बाद रजा ने शिमी को बुलवाया। राजा ने उससे कहा, “यहाँ यरूशलेम में तुम अपने लिये एक घर बनाओ, उसी घर में रहो और नगर को मत छोड़ो।[३७] यदि तुम नगर को छोड़ोगे और किद्रोन के नाले के पार जाओगे तो तुम मार डाले जाओगे और यह तुम्हारा दोष होगा।”[३८] अत: शिमी ने उत्तर दिया, “मेरे राजा, आपने जो कहा, है ठीक है। मैं आपके आदेश का पालन करूँगा।” अत: शिमी यरूशलेम में बहुत समय तक रहा।[३९] किन्तु तीन वर्ष बाद शिमी के दो सेवक भाग गए। वे गत के राजा के पास पहुँचे। उसका नाम आकीश था जो माका का पुत्र था। शिमी ने सुना कि उसके सेवक गत में है।[४०] इसलिये शिमी ने अपनी काठी अपने खच्चर पर रखी और गत में राजा आकीश के पास गया। वह अपने सेवकों को प्राप्त करने गया। उसने उन्हें ढूँढ लिया और अपने घर वापस लाया।[४१] किन्तु किसी ने सुलैमान से कहा, कि शिमी यरूशलेम से गत गया था और लौट आया है।[४२] इसलिये सुलैमान ने उसे बुलवाया। सुलैमान ने कहा, “मैंने यहोवा के नाम पर तुमसे यह प्रतिज्ञा की थी कि यदि तुम यरूशलेम छोड़ोगे, तो मारे जाओगे। मैंने चेतावनी दी थी कि यदि तुम अन्य कहीं जाओगे तो तुम्हारे मारे जाने का दोष तुम्हारा होगा और मैंने जो कुछ कहा था तुमने उसे स्वीकार किया था। तुमने कहा कि तुम मेरी आज्ञा का पालन करोगे।[४३] तुमने अपनी प्रतिज्ञा भंग क्यों की तुमने मेरे आदेश का पालन क्यों नहीं किया[४४] तुम जानते हो कि तुमने मेरे पिता दाऊद के विरूद्ध बहुत से गलत काम किये, अब यहोवा उन गलत कामों के लिये तुम्हें दण्ड देगा।[४५] किन्तु यहोवा मुझे आशीर्वाद देगा। वह दाऊद के सिंहासन की सदैव सुरक्षा करेगा।”[४६] तब राजा ने बनायाह को शिमी को मार डालने का आदेश दिया और उसने इसे पूरा किया। अब सुलैमान अपने राज्य पर पूर्ण नियन्त्रण कर चुका था।

Job २:९
अय्यूब की पत्नी ने उससे कहा, “क्या परमेश्वर में अब भी तेरा विश्वास है तू परमेश्वर को कोस कर मर क्यों नहीं जाता!”

Job १९:१७
मेरी ही पत्नी मेरे श्वास की गंध से घृणा करती है। मेरे अपनी ही भाई मुझ से घृणा करते हैं।

Job १:१०
तू सदा उसकी, उसके घराने की और जो कुछ उसके पास है उसकी रक्षा करता है। जो कुछ वह करता है, तू उसमें उसे सफल बनाता है। हाँ, तूने उसे आशीर्वाद दिया है। वह इतना धनवान है कि उसके मवेशी और उसका रेवड़ सारे देश में हैं।

Efesios ६:१०-१७
[१०] मतलब यह कि प्रभु में स्थित ही कर उसकी असीम शक्ति के साथ अपने आपको शक्तिशाली बनाओ।[११] परमेश्वर के सम्पूर्ण कवच को धारण करो। ताकि तुम शैतान की योजनाओं के सामने टिक सको।[१२] क्योंकि हमारा संघर्ष मनुष्यों से नहीं है, बल्कि शासकों, अधिकारियों इस अन्धकारपूर्ण युग की आकाशी शक्तियों और अम्बर की दुष्टात्मिक शक्तियों के साथ है।[१३] इसलिए परमेश्वर के सम्पूर्ण कबच को धारण करो ताकि जब बुरे दिन आयें तो जो कुछ सम्भव है, उसे कर चुकने के बाद तुम दृढ़तापूर्वक अडिंग रह सको।[१४] [This verse may not be a part of this translation][१५] [This verse may not be a part of this translation][१६] इन सब से बड़ी बात यह है कि विश्वास को ढाल के रूप में ले लो। जिसके द्वारा तुम उन सभी जलते तीरों को बुझा सकोगे, जो बदी के द्वारा छोड़े गये हैं।[१७] छुटकारे का शिरस्त्राण पहन लो और परमेश्वर के संदेश रूपी आत्मा की तलवार उठा लो।

Mateo ५:२२
किन्तु मैं तुमसे कहता हूँ कि जो व्यक्ति अपने भाई पर क्रोध करता है, उसे भी अदालत में इसके लिये उत्तर देना होगा। और जो कोई अपने भाई का अपमान करेगा उसे सर्वोच्च संघ के सामने जवाब देना होगा। और यदि कोई अपने किसी बन्धु से कहे ‘अरे असभ्य, मूर्ख।’ तो नरक की आग के बीच उस पर इसकी जवाब देही होगी।

Romanos ३:२३
क्योंकि सभी ने पाप किये है और सभी परमेश्वर की महिमा से विहीन है।

Romanos ६:२३
क्योंकि पाप का मूल्य तो बस मृत्यु ही है जबकि हमारे प्रभु यीशु मसीह में अनन्त जीवन, परमेश्वर का सेंतमेतका वरदान है।

Génesis ९:२५
इसलिए नूह ने शाप दिया, “यह शाप कनान के लिए हो कि वह अपने भाईयों को दास हो।”

Salmos १०४:९
तूने सागरों की सीमाएँ बाँध दी और जल फिर कभी धरता को ढकने नहीं जाएगा।

Génesis ६:१२
[This verse may not be a part of this translation]

Génesis ७:२०
जल पहाड़ों के ऊपर बढ़ता रहा। सबसे ऊँचे पहाड़ से तेरह हाथ ऊँचा था।

Génesis ८:५-९
[५] जल उतरता गया और दसवें महीने के पहले दिन पहाड़ों की चोटियाँ जल के ऊपर दिखाई देने लगी।[६] जहाज में बनी खिड़की को नूह ने चालीस दिन बाद खोला।[७] नूह ने एक कौवे को बाहर उड़ाया। कौवा उड़ कर तब तक फिरता रहा जब तक कि पृथ्वी पूरी तरह से न सूख गयी।[८] नूह ने एक फाख्ता भी बाहर भेजा। वह जानना चाहता था कि पृथ्वी का पानी कम हुआ है या नहीं।[९] फ़ाख्ते को कहीं बैठने की जगह नहीं मिली क्योंकि अभी तक पानी पृथ्वी पर फैला हुआ था। इसलिए वह नूह के पास जहाज़ पर वापस लौट आया। नूह ने अपना हाथ बढ़ा कर फ़ाख्ते को वापस जहाज़ के अन्दर ले लिया।

Génesis ९:११
मैं तुमको वचन देता हूँ, “जल की बाढ़ से पृथ्वी का सारा जीवन नष्ट हो गया था। किन्तु अब यह कभी नहीं होगा। अब बाढ़ फिर कभी पृथ्वी के जीवन को नष्ट नहीं करेगी।”

Romanos १२:१४
जो तुम्हें सताते हैं उन्हें आशीर्वाद दो। उन्हें शाप मत दो, आशीर्वाद दो।

Standard Bible
Public Domain