A A A A A
×

Maithili Bible 2010

मत्ती 28

1
विश्राम-दिनक प्रात भेने, अर्थात् सप्‍ताहक पहिल दिन, भोर सँ भोर मरियम मग्‍दलीनी आ दोसर मरियम कबर देखबाक लेल गेलीह।
2
एकाएक बड़का भूकम्‍‍प भेल, कारण, परमेश्‍वरक एक स्‍वर्गदूत स्‍वर्ग सँ उतरलाह, और कबरक मुँह पर सँ पाथर गुड़का कऽ ओहि पर बैसि रहलाह।
3
हुनकर रूप बिजलोका जकाँ चमकैत छलनि आ हुनकर वस्‍त्र बर्फ सन उज्‍जर छलनि।
4
पहरा पर बैसल सैनिक सभ हुनका देखि एतेक डेरा गेल जे थर-थर काँपऽ लागल आ मरल सन भऽ गेल।
5
तखन स्‍वर्गदूत ओहि स्‍त्रीगण सभ केँ कहलथिन, “अहाँ सभ नहि डेराउ। हम जनैत छी जे अहाँ सभ यीशु केँ, जिनका क्रूस पर चढ़ाओल गेल छलनि, तिनका तकबाक लेल आयल छी।
6
मुदा ओ एतऽ नहि छथि। ओ जहिना कहने छलाह तहिना जीबि उठल छथि। आउ, ओहि स्‍थान केँ देखू जतऽ हुनका राखल गेल छलनि,
7
आ तखन जल्‍दी जा कऽ हुनकर शिष्‍य सभ केँ ई समाचार सुनाउ जे, ‘ओ मुइल सभ मे सँ जीबि उठलाह! अहाँ सभ सँ पहिने गलील जा रहल छथि आ ओतऽ हुनका सँ भेँट होयत।’ ई बात अहाँ सभ केँ कहि देलहुँ।”
8
ओ सभ डर आ तैयो बड़का खुशीक संग ई समाचार शिष्‍य सभ केँ सुनयबाक लेल कबर पर सँ दौड़ पड़लीह।
9
एकाएक यीशु हुनका सभक आगाँ मे प्रगट भऽ देखाइ देलथिन आ नमस्‍कार कयलथिन। स्‍त्रीगण सभ लग मे जा कऽ हुनकर पयर पकड़ि कऽ आराधना कयलनि।
10
यीशु हुनका सभ केँ कहलथिन, “अहाँ सभ डेराउ नहि। जा कऽ हमर भाय सभ केँ गलील मे पहुँचबाक लेल कहिऔक। ओतहि ओ सभ हमरा देखत।”
11
स्‍त्रीगण सभ एखन रस्‍ते मे छलीह। ओम्‍हर कबर पर पहरा देबऽ वला मे सँ किछु सैनिक सभ नगर मे जा कऽ मुख्‍यपुरोहित सभ केँ एहि घटनाक सम्‍पूर्ण विवरण कहि सुनौलक।
12
मुख्‍यपुरोहित सभ यहूदी सभक बूढ़-प्रतिष्‍ठित लोकनि केँ जमा कऽ एहि विषय मे किछु विचार-विमर्श कयलनि। तकरबाद ओ सभ ओहि सैनिक सभ केँ बहुत रुपैया-पैसा दैत कहलथिन,
13
“लोक केँ अहाँ सभ ई कहू जे, ‘राति मे हम सभ जखन सुतल छलहुँ तँ ओकर चेला सभ ओकर लास चोरा कऽ लऽ गेल।’
14
राज्‍यपाल पिलातुस तक जँ कतौ ई खबरि पहुँचत तँ हम सभ हुनका सँ ई बात सभ मिला लेब और अहाँ सभ केँ बचा लेब।”
15
सैनिक सभ हुनका सभ सँ ओ पाइ लऽ लेलक आ जहिना ओ सभ सिखौने छलथिन तहिना लोक सभ केँ कहऽ लागल। ई अफवाह यहूदी सभ मे दूर-दूर पसरि गेल और आइओ तक ओकरा सभ मे प्रचलित अछि।
16
यीशुक एगारह शिष्‍य गलील जा कऽ ओहि पहाड़ पर गेलाह जतऽ यीशु हुनका सभ केँ पहुँचबाक लेल कहने छलथिन।
17
यीशु केँ देखि कऽ ओ सभ हुनकर आराधना कयलथिन। मुदा किछु गोटेक मोन मे हुनका बारे मे शंको छलनि।
18
तखन यीशु हुनका सभक लग आबि कहलथिन, “स्‍वर्ग आ पृथ्‍वीक सम्‍पूर्ण अधिकार हमरा देल गेल अछि।
19
एहि लेल अहाँ सभ आब जा कऽ सभ जातिक लोक केँ हमर शिष्‍य बनाउ और ओकरा सभ केँ पिता, पुत्र आ पवित्र आत्‍माक नाम सँ बपतिस्‍मा दिऔक।
20
हम जतेक आदेश अहाँ सभ केँ देने छी तकर सभक पालन करबाक लेल ओकरा सभ केँ सिखाउ। मोन राखू, संसारक अन्‍त तक हम सदिखन अहाँ सभक संग छी।”
मत्ती 28:1
मत्ती 28:2
मत्ती 28:3
मत्ती 28:4
मत्ती 28:5
मत्ती 28:6
मत्ती 28:7
मत्ती 28:8
मत्ती 28:9
मत्ती 28:10
मत्ती 28:11
मत्ती 28:12
मत्ती 28:13
मत्ती 28:14
मत्ती 28:15
मत्ती 28:16
मत्ती 28:17
मत्ती 28:18
मत्ती 28:19
मत्ती 28:20
मत्ती 1 / मत्ती 1
मत्ती 2 / मत्ती 2
मत्ती 3 / मत्ती 3
मत्ती 4 / मत्ती 4
मत्ती 5 / मत्ती 5
मत्ती 6 / मत्ती 6
मत्ती 7 / मत्ती 7
मत्ती 8 / मत्ती 8
मत्ती 9 / मत्ती 9
मत्ती 10 / मत्ती 10
मत्ती 11 / मत्ती 11
मत्ती 12 / मत्ती 12
मत्ती 13 / मत्ती 13
मत्ती 14 / मत्ती 14
मत्ती 15 / मत्ती 15
मत्ती 16 / मत्ती 16
मत्ती 17 / मत्ती 17
मत्ती 18 / मत्ती 18
मत्ती 19 / मत्ती 19
मत्ती 20 / मत्ती 20
मत्ती 21 / मत्ती 21
मत्ती 22 / मत्ती 22
मत्ती 23 / मत्ती 23
मत्ती 24 / मत्ती 24
मत्ती 25 / मत्ती 25
मत्ती 26 / मत्ती 26
मत्ती 27 / मत्ती 27
मत्ती 28 / मत्ती 28