A A A A A
प्रकाशित-वाक्‍य 5
14
और ओ चारू जीवित प्राणी बाजल, “आमीन!” आ चौबीसो धर्मवृद्ध मुँहक भरे खसि कऽ दण्‍डवत कयलथिन।
Maithili Bible 2010