A A A A A
प्रकाशित-वाक्‍य 18
22
वीणा बजौनिहारक, गबैयाक, बाँसुरी बजौनिहारक आ धुतहू फुकऽ वला सभक आवाज तोरा मे कहियो नहि सुनाइ पड़त। कोनो व्‍यवसायक कारीगर फेर कहियो तोरा मे नहि पाओल जायत। जाँत चलबाक आवाज आब तोरा मे कहियो नहि सुनाइ देत।
Maithili Bible 2010