गिनती 34

1

फिर यहोवा ने मूसा से कहा,

2

इस्त्राएलियों को यह आज्ञा दे, कि जो देश तुम्हारा भाग होगा वह तो चारों ओर से सिवाने तक का कनान देश है, इसलिये जब तुम कनान देश मे पहुंचों,

3

तब तुम्हारा दक्खिनी प्रान्त सीन नाम जंगल से ले एदोम देश के किनारे किनारे होता हुआ चला जाए, और तुम्हारा दक्खिनी सिवाना खारे ताल के सिरे पर आरम्भ होकर पश्चिम की ओर चले;

4

वहां से तुम्हारा सिवाना अक्रब्बीम नाम चढ़ाई की दक्खिन की ओर पहुंचकर मुड़े, और सीन तक आए, और कादेशबर्ने की दक्खिन की ओर निकले, और हसरस्रार तक बढ़के अस्मोन तक पहुंचे;

5

फिर वह सिवाना अस्मोन से घूमकर मि के नाले तक पहुंचे, और उसका अन्त समुद्र का तट ठहरे।

6

फिर पच्छिमी सिवाना महासमुद्र हो; तुम्हारा पच्छिमी सिवाना यही ठहरे।

7

और तुम्हारा उत्तरीय सिवाना यह हो, अर्थात् तुम महासमुद्र से ले होर पर्वत तक सिवाना बन्धाना;

8

और होर पर्वत से हामात की घाटी तक सिवाना बान्धना, और वह सदाद पर निकले;

9

फिर वह सिवाना जिप्रोन तक पहुंचे, और हसरेनान पर निकले; तुम्हारा उत्तरीय सिवाना यही ठहरे।

10

फिर अपना पूरबी सिवाना हसरेनान से शपाम तक बान्धना;

11

और वह सिवाना शपाम से रिबला तक, जो ऐन की पूर्व की ओर है, नीचे को उतरते उतरते किन्नेरेत नाम ताल के पूर्व से लग जाए;

12

और वह सिवाना यरदन तक उतरके खारे ताल के तट पर निकले। तुम्हारे देश के चारों सिवाने ये ही ठहरें।

13

तब मूसा ने इस्त्राएलियों से फिर कहा, जिस देश के तुम चिट्ठी डालकर अधिकारी होगे, और यहोवा ने उसे साढ़े नौ गोत्रा के लोगों को देने की आज्ञा दी है, वह यही है;

14

परन्तु रूबेनियों और गादियों के गोत्रा तो अपने अपने पितरों के कुलों के अनुसार अपना अपना भाग पा चुके हैं, और मनश्शे के आधे गोत्रा के लोग भी अपना भाग पा चुके हैं;

15

अर्थात् उन अढ़ाई गोत्रों के लोग यरीहो के पास की यरदन के पार पूर्व दिशा में, जहां सूर्योदय होता है, अपना अपना भाग पा चुके हैं।।

16

फिर यहोवा ने मूसा से कहा,

17

कि जो पुरूष तुम लोगों के लिये उस देश को बांटेंगे उनके नाम ये हैं; अर्थात् एलीआजर याजक और नून का पुत्रा यहोशू।

18

और देश को बांटने के लिये एक एक गोत्रा का एक एक प्रधान ठहराना।

19

और इन पुरूषों के नाम ये हैं; अर्थात् यहूदागोत्री यपुन्ने का पुत्रा कालेब,

20

शिमोनगोत्री अम्मीहूद का पुत्रा शमुएल,

21

बिन्यामीनगोत्री किसलोन का पुत्रा एलीदाद,

22

दानियों के गोत्रा का प्रधान योग्ली का पुत्रा बुक्की,

23

यूसुफियों में से मनश्शेइयों के गोत्रा का प्रधान एपोद का पुत्रा हन्नीएल,

24

और एप्रैमियों के गोत्रा का प्रधान शिम्तान का पुत्रा कमूएल,

25

जबूलूनियों के गोत्रा का प्रधान पर्नाक का पुत्रा एलीसापान,

26

इस्साकारियों के गोत्रा का प्रधान अज्जान का पुत्रा पलतीएल,

27

आशेरियों के गोत्रा का प्रधान शलोमी का पुत्रा अहीहूद,

28

और नप्तालियों के गोत्रा का प्रधान अम्मीहूद का पुत्रा पदहेल।

29

जिन पुरूषों को यहोवा ने कनान देश को इस्त्राएलियों के लिये बांटने की आज्ञा दी वे ये ही हैं।।