1 इतिहास 8

1

बिन्यामीन से उसका जेठा बेला, दूसरा अशबेल, तीसरा अहृह,

2

चौथा नोहा और पांचवां रापा उत्पन्न हुआ।

3

और बेला के पुत्रा, अस्रार, गेरा, अबीहूद।

4

अबीशू, नामान, अहोह,

5

गेरा, शपूपान और हूराम थे।

6

और एहूद के पुत्रा ये हुए ( गेबा के निवासियों के पितरों के घरानों में मुख्य पुरूष ये थे, जिन्हें बन्धुआई में मानहत को ले गए थे ) ।

7

और नामान, अहिरयाह और गेरा ( इन्हें भी बन्धुआ करके मानहत को ले गए थे ), और उस ने उज्जा और अहिलूद को जन्म दिया।

8

और शहरैम से हशीम और बारा नाम अपनी स्त्रियों को छोड़ देने के बाद मोआब देश में लड़के उत्पन्न हुए।

9

और उसकी अपनी स्त्री होदेश से योआब, सिब्या, मेशा, मल्काम, यूस, सोक्या,

10

और मिर्मा उत्पन्न हुए उसके ये पुत्रा अपने अपने पितरों के घरानों में मुख्य पुरूष थे।

11

और हूशीम से अबीतूब और एल्पाल का जन्म हुआ।

12

एल्पाल के पुत्रा एबेर, मिशाम और शेमेर, इसी ने ओनो और गांवों समेत लोद को बसाया।

13

फिर वरीआ और शेमा जो अरयालोन के निवासियों के पितरों के घरानों में मुख्य पुरूष थे, और जिन्हों ने गत के निवासियों को भगा दिया।

14

और अह्मो, हासक, यरमोत।

15

जबद्याह, अराद, एदेर।

16

मीकाएल, यिस्पा, योहा, जो बीआ के पुत्रा थे।

17

जबद्याह, मशुल्लाम, हिजकी, हेबर।

18

यिशमरै, यिजलीआ, योबाब, जो एल्पाल के पुत्रा थे।

19

और याकीम, जिक्री, जब्दी।

20

एलीएनै, सिल्लतै, एलीएल।

21

अदायाह, बरायाह और शिम्रात जो शिमी के पुत्रा थे।

22

और यिशपान, यबेर, एलीएल।

23

अब्दोन, जिक्री,हानान।

24

हनन्याह, एलाम, अन्तोतिरयाह।

25

यिपदयाह और पनूएल जो शाशक के पुत्रा थे।

26

और शमशरै, शहर्याह, अतल्याह।

27

योरेश्याह, एलिरयाह और जिक्र जो यरोहाम के पुत्रा थे।

28

ये अपनी अपनी पीढ़ी में अपने अपने पितरों के घरानों में मुख्य पुरूष और प्रधान थे, ये यरूशलेम में रहते थे।

29

और गिबोन में गिबोन का पिता रहता था, जिसकी पत्नी का ताम माका था।

30

और उसका जेठा पुत्रा अब्दोन था, फिर शूर, कीश, बाल, नादाब।

31

गदोर; अह्मो और जेकेर हुए।

32

और मिकोत से शिमा उत्पन्न हुआ। और ये भी अपने भइयों के साम्हने यरूशलेम में रहते थे, अपने भाइयों ही के साथ।

33

और नेर से कीश उत्पन्न हुआ, कीश से शाऊल, और शाऊल से योनातान, मलकीश, अबीनादाब, और एशबाल उत्पन्न हुआ।

34

और योनातन का पुत्रा मरीब्बाल हुआ, और मरीब्बाल से मीका उत्पन्न हुआ।

35

और मीका के पुत्रा पीतोन, मेलेक, तारे और आहाज।

36

और आहाज से यहोअस्रा उत्पन्न हुआ। और यहोअस्रा से आलेमेत, अजमावेत और जिम्री; और जिम्री से मोसा।

37

मोसा से बिना उत्पन्न हुआ। और इसका पुत्रा रापा हुआ, रापा का एलासा और एलासा का पुत्रा आसेल हुआ।

38

और आसेल के छे पुत्रा हुए जिनके ये नाम थे, अर्थात् अज्रीकाम, बोकरू, यिश्माएल, शार्याह, ओबद्याह, और हानान। ये ही सब आसेल के पुत्रा थे।

39

ओर उसके भाई एशेक के ये पुत्रा हुए, अर्थात् उसका जेठा ऊलाम, दूसरा यूशा, तीसरा एलीपेलेत।

40

और ऊलाम के पुत्रा शूरवीर और धनुर्धारी हुए, और उनके बहुत बेटे- पोते अर्थात् डेढ़ सौ हुए। ये ही सब बिन्यामीन के वंश के थे।