1 इतिहास 2

1

इस्राएल के ये पुत्रा हुए; रूबेन, शिमोन, लेवी, सहूदा, इस्साकार, जबूलून, दान।

2

यूसुफ, बिन्यामीन, नन्ताली, गाद और आशेर।

3

यहूदा के ये पुत्रा हुए : एर, ओनान और शेला, उसके ये तीनों पुत्रा, बतशू नाम एक कनानी स्त्री से उत्पन्न हुए। और यहूदा का जेठा एर, यहोवा की दृष्टि में बुरा था, इस कारण उस ने उसको मार डाला।

4

यहूदा की बहू तामार से पेरेस और जेरह उत्पन्न हुए। यहूदा के सब पुत्रा पांच हुए।

5

मेरेस के पुत्रा : हेस्रोन और हामूल।

6

और जेरेह के पुत्रा : जिम्री, एतान, हेमान, कलकोल और दारा सब मिलकर पांच।

7

फिर कम का पुत्रा : आकार जो अर्पण की हुई पस्तु के विषय में विश्वासघात करके इस्राएलियों का कष्ट देनेवाला हुआ।

8

और एतान का पुत्रा : अजर्याह।

9

हेस्रोन के जो पुत्रा उत्पन्न हुए : यरह्येल, राम और कलूबै।

10

और राम से अम्मीनादाब और अम्मीनादाब से नहशोन उत्पन्न हुआ जो यहूदियों का प्रधान बना।

11

और नहशोन से सल्मा और सल्मा से बोअज,

12

और बोअज से ओबेद और ओबेद से यिशै उत्पन्न हुआ।

13

और यिशै से उसका जेठा एलीआब और दूसरा अबीनादाब तीसरा शिमा।

14

चौथा नतनेल और पांचवां रद्दै छठा ओसेम और सातवां दाऊद उत्पन्न हुआ।

15

इनकी बहिनें सरूयाह ओर अबीगैल थीं।

16

और सरूयाह के पुत्रा अबीशै, योआब और असाहेल ये तीन थे।

17

और अबीगैल से अमासा उत्पन्न हुआ, और अमासा का पिता इश्माएली येतेर था।

18

हेस्रोन के पुत्रा कालेब के अजूबा नाम एक स्त्री से, और यरीओत से, बेटे उत्पन्न हुए; और इसके पुत्रा ये हूए अर्थात् येशेर, शेबाब और अद न।

19

जब अजूबा मर गई, सब कालेब ने एप्रात को ब्याह लिया; और जिससे हूर उत्पन्न हुआ।

20

और हूर से ऊरी और ऊरी से बसलेल उत्पन्न हुआ।

21

इसके बाद हेस्रोन गिलाद के पिता माकीर की बेटी के पास गया, जिसे उस ने तब ब्याह लिया, जब वह साठ वर्ष का था; और उस से सगूब उत्पन्न हुआ।

22

और सगूब से याईर जन्मा, जिसके गिलाद देश में तेईस नगर थे।

23

और गशूर और अराम ने याईर की बस्तियों को और गांवों समेत कनत को, उन से ले लिया; ये सब नगर मिलकर साठ थे। ये सब गिलाद के पिता माकीर के पुत्रा हुए।

24

और जब हेस्रोन कालेबेप्राता में मर गया, तब उसकी अबिरयाह नाम स्त्री से अशहूर उत्पन्न हुआ जो तको का पिता हुआ।

25

और हेस्रोन के जेठे यरह्येल के ये पुत्रा हुए : अर्थात् राम जो उसका जेठा था; और बूना, ओरेन, ओसेम और यहिरयाह।

26

और यरह्येल की एक और पत्नी थी, जिसका नाम अतारा था; वह ओनाम की माता थी।

27

और यरह्येल के जेठे राम के ये पुत्रा हुए, अर्थात् मास, यामीन और एकेर।

28

और ओनाम के पुत्रा शम्मै और यादा हुए। और शम्मै के पुत्रा नादाब और अबीशूर हुए।

29

और अबीशूर की पत्नी का नाम अबीहैल था, और उस से अहबान और मोलीद उत्पन्न हुए।

30

और नादाब के पुत्रा सेलेद और अत्पैम हुए; सेलेद तो निेसन्तान मर गया। और अत्तैम का पुत्रा यिशी।

31

और यिशी का पुत्रा शेशान और शेशान का पुत्रा : अहलै।

32

फिर शम्मै के भाई यादा के पुत्रा : येतेर और योनातान हुए; येतेर तो निेसन्तान मर गया।

33

यानातान के पुत्रा पेलेत और जाजा; यरह्येल के पुत्रा ये हुए।

34

शेशान के तो बेटा न हुआ, केवल बेटियां हुई। शेशान के पास यर्हा नाम एक मिस्री दास था।

35

और शेशान ने उसको अपनी बेटी ब्याह दी, और उस से अत्तै उत्पन्न हुआ।

36

और अत्तै से नातान, नातान से जाबाद।

37

जाबाद से एपलाल, एपलाल से ओबेद।

38

ओबेद से येहू, येहू से अजर्याह।

39

अजर्याह से हेलैस, हेलैस से एलासा।

40

एलासा से सिस्मै, सिस्मै से शल्लूम।

41

शल्लूम से यकम्याह और यकम्याह से एलीशामा उत्पन्न हुए।

42

फिर यरह्येल के भाई कालेब के ये पुत्रा हुए : अर्थात् उसका जेठा मेशा जो जीप का पिता हुआ। और मारेशा का पुत्रा हेब्रोन भी उसी के वंश में हुआ।

43

और हेब्रोन के पुत्रा कोरह, तप्पूह, रेकेम और शेमा।

44

और शेमा से योर्काम का पिता रहम और रेकेम से शम्मै उत्पन्न हुआ था।

45

और शम्मै का पुत्रा माओन हुआ; और माओन बेत्सूर का पिता हुआ।

46

फिर एपा जो कालेब की रखेली थी, उस से हारान, मोसा और गाजेज उत्पन्न हुए; और हारान से गाजेज उत्पन्न हुआ।

47

फिर याहदै के पुत्रा रेगेम, योताम, गेशान, पेलेत, एपा और शाप।

48

और माका जो कालेब की रखेली थी, उस से शेबेर और तिर्हाना उत्पन्न हुए।

49

फिर उस से मदमन्ना का पिता शाप और मकबेना और गिबा का पिता शबा उत्पन्न हुए। और कालेब की बेटी अकसा थी। कालेब के पुत्रा यें हुए।

50

एप्राता के जेठे हूर का पुत्रा किर्यत्यारीम का पिता शोबाल।

51

बेतलेहेम का पिता सल्मा और बेतगादेर का पिता हारेप।

52

और किर्यत्यारीम के पिता शोबाल के वंश में हारोए आधे मनुहोतवासी,

53

और किर्यत्यारीम के कुल अर्थात् यित्री, पूती, शूमाती और मिश्राई और इन से सोराई और एश्ताओली निकले।

54

फिर सल्मा के वंश में बेतलेहेम और नतोपाई, अत्रोतबेत्योआब और आधे मानहती, सोरी।

55

फिर याबेस में रहनेवाले लेखकों के कुल अर्थात् तिराती, शिमाती और सूकाती हुए। ये रेकाब के घराने के मूलपुरूष हम्मन के वंशवाले केनी हैं।